Wednesday, June 15, 2016

Published 3:43 PM by with 2 comments

आप खुद नहीं जानती आप कितनी प्यारी हो

तेरी धड़कन ही ज़िंदगी का किस्सा है मेरा, तू ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा है मेरा.. मेरी मोहब्बत तुझसे, सिर्फ़ लफ्जों की नहीं है, तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा..!!





आप खुद नहीं जानती आप कितनी प्यारी हो,


जान हो हमारी पर जान से प्यारी हो,

दूरियों का होने से कोई फर्क नही पड़ता

आप कल भी हमारी थी और आज बी हमारी हो..
      edit

2 comments:

Post a Comment