Friday, August 7, 2015

Published 7:11 AM by with 4 comments

बहुत ही सुन्दर वर्णन है:

बहुत ही सुन्दर वर्णन है:

मस्तक को थोड़ा झुकाकर देखिए....
अभिमान मर जाएगा

आँखें को थोड़ा भिगा कर देखिए.....
पत्थर दिल पिघल जाएगा

दांतों को आराम देकर देखिए.....
स्वास्थ्य सुधर जाएगा

जिव्हा पर विराम लगा कर देखिए.....
क्लेश का कारवाँ गुज़र जाएगा

इच्छाओं को थोड़ा घटाकर देखिए.....
खुशियों का संसार नज़र आएगा...!!!


      edit

4 comments:

Post a Comment